PanditCard
PanditCard
Panditji

bookendL

bookend
1

2

3

4

bookendL

bookend

t0 Circle

11

$

Individual Radha Ashtami Abhishek and Aarti

व्यक्तिगत राधा अष्टमी अभिषेक और आरती

t1 pricecardline
  • CardLow

    Link for video of Puja in ISKCON

  • CardLow

    Your Name, Gotra and City of Residence will be chanted during the Sankalp

  • CardLow

    You can choose to offer Morning Bhog Seva to Shri Radha Krisna

  • CardLow

    You can choose to add Prasad and Shri Radha Krishna Photo for Home Delivery in India

  • CardLow

    इस्कॉन में पूजा की वीडियो का लिंक

  • CardLow

    पूजा के दौरान आपके नाम, गोत्र और निवास स्थल का उच्चारण किया जाएगा

  • CardLow

    आप प्रातः भोग सेवा श्री राधा कृष्ण को अर्पण करने का चयन कर सकते है

  • CardLow

    आप अपने घर तक प्रसाद और श्री राधा कृष्ण का चित्र पहुँचाने के लिए चयन कर सकते है

t1 Circle

21

$

Family Radha Ashtami Abhishek and Aarti

परिवार राधा अष्टमी अभिषेक और आरती

t1 pricecardline
  • CardLow

    Link for video of Puja in ISKCON

  • CardLow

    Family Members’ Name, Gotra and City of Residence will be chanted during the Sankalp

  • CardLow

    You can choose to offer Morning Bhog Seva to Shri Radha Krisna

  • CardLow

    You can choose to add Prasad and Shri Radha Krishna Photo for Home Delivery in India

  • CardLow

    इस्कॉन में पूजा की वीडियो का लिंक

  • CardLow

    पूजा के दौरान आपके परिवार के सदस्यों के नाम, गोत्र और निवास स्थल का उच्चारण किया जाएगा

  • CardLow

    आप प्रातः भोग सेवा श्री राधा कृष्ण को अर्पण करने का चयन कर सकते है

  • CardLow

    आप अपने घर तक प्रसाद और श्री राधा कृष्ण का चित्र पहुँचाने के लिए चयन कर सकते है

t2 Circle

55

$

Family Radha Ashtami Abhishek & Aarti+
Morning Bhog Seva

परिवार राधा अष्टमी अभिषेक और आरती +
प्रातः भोग सेवा

t1 pricecardline
  • CardLow

    Link for video of Puja in ISKCON

  • CardLow

    Family Members’ Name, Gotra and City of Residence will be chanted during the Sankalp

  • CardLow

    Morning Bhog Seva will be offered to Sri Radha Krishna in your name

  • CardLow

    You can choose to offer Raj Bhog and 56 Bhog Seva to Shri Radha Krisna

  • CardLow

    You can choose to add Prasad and Shri Radha Krishna Photo for Home Delivery in India

  • CardLow

    इस्कॉन में पूजा की वीडियो का लिंक

  • CardLow

    पूजा के दौरान आपके परिवार के सदस्यों के नाम, गोत्र और निवास स्थल का उच्चारण किया जाएगा

  • CardLow

    प्रातः भोग सेवा श्री राधा कृष्ण को अर्पण किया जायेगा

  • CardLow

    आप राज भोग एवं 56 भोग श्री राधा कृष्ण को अर्पण करने का चयन कर सकते है

  • CardLow

    आप अपने घर तक प्रसाद और श्री राधा कृष्ण का चित्र पहुँचाने के लिए चयन कर सकते है

t3 Circle

351

$

Family Radha Ashtami Abhishek & Aarti+
56 Bhog Seva

परिवार राधा अष्टमी अभिषेक और आरती +
56 भोग सेवा

t1 pricecardline
  • CardLow

    Link for video of Puja in ISKCON

  • CardLow

    Family Members’ Name, Gotra and City of Residence will be chanted during the Sankalp

  • CardLow

    56 Bhog Seva will be offered to Shri Radha Krisna in your name

  • CardLow

    You can choose to add Prasad and Shri Radha Krishna Photo for Home Delivery in India

  • CardLow

    इस्कॉन में पूजा की वीडियो का लिंक

  • CardLow

    पूजा के दौरान आपके परिवार के सदस्यों के नाम, गोत्र और निवास स्थल का उच्चारण किया जाएगा

  • CardLow

    56 भोग सेवा श्री राधा कृष्ण को अर्पण किया जायेगा

  • CardLow

    आप अपने घर तक प्रसाद और श्री राधा कृष्ण का चित्र पहुँचाने के लिए चयन कर सकते है

bookendL

bookend

bookendL

bookend

Mon Aug 30 2021 3:00PM

Janmashtami Shri Krishna Abhishek and Shri Radha Madan Mohan Aarti

जन्माष्टमी श्री कृष्णा अभिषेक और श्री राधा कृष्णा आरती

Fri Aug 13 2021 10:00AM

Nag Panchami Kaal Sarp Dosha Puja and Rudrabhishek Puja

नाग पंचमी काल सर्प दोष पूजा और रुद्राभिषेक पूजा

bookendL

bookend

Started by IIT graduates, DevDarshan is Devotional Platform for 5000+ Hindu Temples in the Indian Subcontinent. DevDarshan’s long term vision is to provide a digital platform to Temples and Gurus for sharing the millennia-old teachings of Indian culture in the world and by doing so, projecting Bharat (India) as Vishwa Guru (Universal Leader) through its rich cultural and spiritual heritage.

DevDarshan facilitates online Daily Darshan, Pujas and Digital Donations for Devotees. DevDarshan has onboarded 100+ Temples across 16 states including but not limited to ISKCON (Vrindavan), ISKCON (Ghaziabad), ISKCON (Indore), ISKCON (Srinagar), ISKCON (Jodhpur), ISKCON (Durgapur), ISKCON (Bareilly), Jyotirlinga Ghushmeshwar Nath Temple (Pratapgarh), Jyotirlinga Mamleshwar (Omkareshwar), Kaal Bhairav Mandir (Ujjain), Chintaman Ganesh Mandir (Ujjain), Tapkeshwar Mandir (Dehradun), Pashupati Nath Mandir (Haridwar), Shaktipeeth Chamunda Devi (Kangra), Shaktipeeth Maa Bajreshwari Devi (Kangra), Shaktipeeth Maa Baglamukhi Mandir (Kangra), Shaktipeeth Maa Vindyavasini Mandir (Mirzapur), Shaktipeeth Maa Harsiddhi Mandir (Ujjain), Shaktipeeth Maa Gadkalika Mandir (Ujjain), Bijasan Mata Mandir (Indore), Kalkaji Mandir (Delhi), Durgiana Mandir (Amritsar), Maa Mundeshwari Temple (Bihar), Vrindavan Chandrodaya Temple, Badi Kali ji Mandir (Lucknow), Nagvasuki Mandir (Prayagraj).

You can find more details about DevDarshan and our team.

IIT स्नातकों द्वारा आरम्भ किया गया,देवदर्शन, भारत के 5000+ हिंदू मंदिरों के लिए आध्यतमिक मंच है। देवदर्शन का दृष्टिकोण हिंदू मंदिरों और गुरुओं को एक डिजिटल मंच प्रदान करना जहाँ वे भारत की आध्यात्मिक शिक्षा एवं हिंदू जीवन शैली का प्रसार कर सके और पूरे विश्व को विश्वगुरु भारत की महान संस्कृति व विरासत का ज्ञान दे सके। देवदर्शन पर मंदिर दर्शन, पूजा बुकिंग और डिजिटल दान की सुविधा उपलब्ध है।

देवदर्शन मंच के साथ 16 राज्यों में स्थित 100+ मंदिर जुड़े हुए है: इस्कॉन (वृन्दावन), इस्कॉन (गाजियाबाद), इस्कॉन (इंदौर), इस्कॉन (श्रीनगर), इस्कॉन (दुर्गापुर), इस्कॉन (जोधपुर), ज्योतिर्लिंग घुश्मेश्वर नाथ (प्रतापगढ़), ज्योतिर्लिंग ममलेश्वर (ओंकारेश्वर), काल भैरव मंदिर (उज्जैन), चिंतामन गणेश मंदिर (उज्जैन), पशुपति नाथ मंदिर (हरिद्वार), टपकेश्वर मंदिर (देहरादून), शक्तिपीठ चामुंडा देवी (कांगड़ा), शक्तिपीठ मां बजरेश्वरी देवी (कांगड़ा), शक्तिपीठ मां बगलामुखी मंदिर (कांगड़ा), शक्तिपीठ मां विंध्यवासिनी मंदिर (मिर्ज़ापुर) , शक्तिपीठ मां हरसिद्धि मंदिर (उज्जैन), बिजासन माता मंदिर (इंदौर), कालकाजी मंदिर (दिल्ली), माँ मुंडेश्वरी मंदिर (बिहार), वृंदावन चंद्रोदय मंदिर, बडी काली जी मंदिर (लखनऊ), नागवासुकी मंदिर (प्रयागराज) आदि।

आप देवदर्शन और हमारी टीम के बारे में अधिक जानकारी यहाँ प्राप्त कर सकते हैं।

Live Streaming of Shri Radha Krishna Abhishek and Aarti will take place on Tuesday, September 14. Live Streaming will be available on DevDarshan App , which you can download on your Android Smartphone. Live Streaming will also be available on DevDarshan YouTube Channel and DevDarshan Facebook page. More details will be shared with you via whatsapp and email once you register for the Puja.

Your Name, Gotra and City of Residence will be chanted during the Puja on September 14, 2021. In case of Family Puja, the relationship between the family members will also be chanted during the Puja.

Please, make a wish in your mind while watching the Digital Puja in ISKCON from your home so that Shri Radha Krishna can bestow blessings on you and fulfill your wish.

श्रद्धालु 14 सितंबर, 2021 को इस्कॉन में राधा अष्टमी श्री राधा कृष्ण अभिषेक और आरती के वीडियो की लाइव स्ट्रीमिंग देख सकते हैं। पूजा की लाइव स्ट्रीमिंग देवदर्शन ऐप में उपलब्ध होगी, जिसे आप इस लिंक के माध्यम से अपने एंड्रॉयड स्मार्टफ़ोन पर डाउनलोड कर सकते हैं।

पूजा की लाइव स्ट्रीमिंग देवदर्शन यूट्यूब चैनल और देवदर्शन फेसबुक पेज पर भी उपलब्ध होगी। पूजा के लिए पंजीकरण करने के पश्चात, और अधिक जानकारी व्हाट्सएप और ईमेल के माध्यम से आपके साथ साझा की जाएगी।

आपका नाम, गोत्र और निवास स्थल, पूजा के दौरान लिया जाएगा। कृपया, अपने घर से इस्कॉन में आभासी पूजा को देखते हुए मन में एक इच्छा करें ताकि श्री राधा कृष्णा आप पर अपना आशीर्वाद बनाये रखे और उस इच्छा को पूरा कर सकें।

Radha Ashtami marks the birth anniversary of Shri Radha Rani and is celebrated all over India with great zeal and vigor. The festival honours the beautiful bond of love shared between Shri Krishna and Radha. Radha Rani was born on the 8th day (Ashtami) of the bright fortnight (Shukla Paksha Ashtami) in the month of Bhadrapada.

Radha Ashtami is observed 15 days after Krishna Janmashtmi that marks Shri Krishna's birth anniversary. Radha was known to be an incarnation of Maa Lakshmi. It is said that Radha Rani was first found lying on a golden lotus leaf in a pond of Barsana. She was discovered by a couple named Vrishbhanu Keerti who did not have a child of their own. Therefore, the couple adopted her. The day she was discovered is celebrated as Radha Ashtami.

It is also believed that little Radha opened her eyes for the first time only after Shri Krishna appeared in front of her. Hindu mythology describes Radha as the spiritual energy of Lord Krishna. It's also a firm belief that whoever observes the Radha Ashtami Vrat (fast) and participates in Radha Ashtami birth will be blessed with a life full of happiness and prosperity.

राधा अष्टमी श्री राधा रानी के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है । पूरे भारत में ये पर्व बहुत उत्साह और जोश के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार श्री कृष्ण और राधा के बीच प्रेम के खूबसूरत बंधन को भी दर्शाता है। राधा रानी का जन्म भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष अष्टमी को हुआ था।

राधा अष्टमी कृष्ण जन्माष्टमी के 15 दिन के पश्चात मनाई जाती है। राधा को मां लक्ष्मी का अवतार माना जाता है। कहा जाता है कि राधा रानी को पहली बार बरसाना के एक तालाब में सोने के कमल के पत्ते पर लेटा पाया गया था। उन्हें वृषभानु कीर्ति नाम के एक निसंतान दंपति ने देखा। उस दंपति ने उन्हें गोद ले लिया। जिस दिन राधा रानी को बरसाना में पहली बारी देखा गया था, उस दिन को राधा अष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

यह भी माना जाता है कि नन्ही राधा ने पहली बार श्रीकृष्ण के सामने प्रकट होने के बाद ही अपनी आंखें खोली थीं। हिंदू पौराणिक कथाओं में राधा को भगवान कृष्ण की आध्यात्मिक ऊर्जा के रूप में वर्णित किया गया है। ऐसा माना जाता है कि राधा अष्टमी पर जो कोई भी व्रत रखता है और श्री राधा कृष्णा अभिषेक में भाग लेता है, उसे सुख और समृद्धि से भरा जीवन प्राप्त होगा।

Radha Ashtami is celebrated with a lot of joy and enthusiasm in many parts of India, especially in Vrindavan and ISKCON. ISKCON celebrates Radha Ashtami with a lot of pomp and show and it's worth witnessing the rituals once in a lifetime. The temple is beautifully decorated with flowers and lights and beautiful idols of Radha Krishna are placed at an altar or centre stage. The place of worship is decorated with a wide variety of colors and flowers. On Radha Ashtami day, Devotees wake up and take a bath before sunrise. Then, they spend the entire day worshipping Radha Krishna and chanting mantras. Some people even keep the auspicious Radha Ashtami fast.

An important ritual of the Radha Ashtami Puja is Radha Krishna Abhisek. In this ritual, Pandit ji performs the Abhisek by bathing the idols of Radha and Krishna in holy and sacred Panchamrit which is made up of milk, yogurt, ghee, jaggery and honey. Then the idols are adorned with beautifully knitted new clothes and fresh flower garlands. Devotees offer Shringar to the deity along with bhog and dhoop. Finally, Aarti and Kirtan are organized and Prasad is served to the Devotees.

राधा अष्टमी विशेष रूप से वृंदावन और इस्कॉन में बहुत खुशी और उत्साह के साथ मनाई जाती है। इस्कॉन को फूलों और रोशनी के साथ खूबसूरती से सजाया जाता है और श्री राधा कृष्ण की सुंदर मूर्तियों को वेदी पर रखा जाता है। पूजा स्थल को तरह-तरह के रंगों और फूलों से सजाया जाता है। राधा अष्टमी के दिन, भक्त सूर्योदय से पहले स्नान करते हैं। फिर, वे पूरा दिन राधा कृष्ण की पूजा और मंत्रों का जाप करते हैं। कई श्रद्धालु राधा अष्टमी का व्रत भी रखते हैं।

राधा अष्टमी पूजा का एक महत्वपूर्ण अनुष्ठान राधा कृष्ण अभिषेक है। इस अनुष्ठान में पंडित जी राधा कृष्ण की मूर्तियों को पवित्र पंचामृत से स्नान कराते है जो दूध, दही, घी, गुड़ और शहद से बना होता है। फिर मूर्तियों को सुंदर बुने हुए नए कपड़े और ताजे फूलों की माला से सजाया जाता है। भक्त भगवान को भोग एवं श्रृंगार अर्पण करते हैं। अंत में, आरती और कीर्तन का आयोजन किया जाता है और भक्तों को प्रसाद वितरित किया जाता है।

Bhog literally means offerings or blessings. Bhog offering is conducted for spiritual consciousness of an individual. In the path of devotion and spirituality, Bhog is offered more as a form of love as well as for blessings. On the auspicious day of Radha Ashtami, following Bhogas will be offered to Shri Radha Krishna.

Morning Bhog/Mangal Bhog- Shri Radha Krishna will be offered the bhog in the morning around 4 AM, which consists of kheer, fruits, butter, milk, sweets and a few other items.

Raj Bhog- The main meal of the day for the supreme deity is the Raj Bhog which is offered at noon. In this offering, the Lord feasts like a king. This meal consists of rice, a variety of vegetables, sweets, pulses & cereals, poori, juice, salads and many more dishes.

Evening Bhog - Offered to the Lord at dusk, this meal consists of Poori, sabzi, rice, pulses & cereals,sweets etc.

In case you register for Bhogas offering, the recorded video for the same will be sent to you. Offer Bhog to Shri Radha Krishna in ISKCON on the auspicious occasion of Radha Ashtami, and get the blessings of the Supreme Deity.

भोग का शाब्दिक अर्थ है प्रसाद भेंट अथवा आशीर्वाद। भोग प्रसाद व्यक्ति की आध्यात्मिक चेतना के लिए आयोजित किया जाता है। भक्ति योग के मार्ग में प्रेम के साथ-साथ आशीर्वाद के रूप में भगवान को भोग भेंट किया जाता है। राधा अष्टमी के शुभ दिन पर, श्री राधा कृष्णा को निम्नलिखित भोग अर्पित किए जाएंगे।

प्रातः भोग अथवा मंगल भोग: श्री राधा कृष्णा को सुबह लगभग 4 बजे भोग लगाया जाएगा, जिसमें खीर, फल, मक्खन, दूध, मिठाई और कुछ अन्य पकवान शामिल होंगे।

राज भोग: भगवान के लिए दिन का मुख्य भोजन राज भोग होता है जो दोपहर में भेंट किया जाता है। इस भेंट में, भगवान एक राजा की तरह भोजन करते हैं। इस भोजन में चावल, विभिन्न प्रकार की सब्जियां, मिठाई, दालें और अनाज, पूरी, जूस, सलाद और कई अन्य व्यंजन शामिल होते हैं।

संध्या भोग: ये भोग, संध्या को भगवान को चढ़ाया जाता है; इस भोजन में पूरी, सब्जी, चावल, दाल और अनाज, मिठाई आदि शामिल होते हैं।

यदि आप 14 सितंबर, 2021 को भोग भेंट अर्पण करने के लिए पंजीकरण करते हैं, तो भोग का रिकॉर्डेड वीडियो आपको भेजा जाएगा। 14 सितंबर को इस्कॉन में श्री राधा कृष्णा को भोग अर्पित करें और भगवान का आशीर्वाद प्राप्त करें।

Chappan Bhog is an offering to the Lord in which people offer a list of 56 items together. The word 'Chappan' means 56 and 'Bhog' refers to food. Curious to know why there are 56 items specifically?

Legend says that Lord Krishna had lifted the Govardhan Parvat to save his village and villagers from the wrath of The Rain God (Lord Indra). Lord Madan Mohan lifted the huge Govardhan Parvat and held it at the tip of his little finger under which all the people took shelter. He stood in the same position for seven days in a row until Lord Indra realised his mistake. Generally, Lord Madan Mohan consumes 8 food items every day but he didn't eat anything for those seven days. Therefore, at the end of the seventh day everyone offered a total of 56 dishes (8 items each day × 7 days) to Shri Radha Krishna out of happiness and gratitude. The 56 bhog generally consists of the favourite items of Lord Madan Mohan such as cereal, fruits, dry fruits, sweets, drinks, namkeen and pickles in quantities of seven under each category.

छप्पन भोग भगवान को दिया जाने वाला एक भेंट है, जिसमें 56 पकवान होते हैं। छप्पन शब्द का अर्थ 56 और भोग का अर्थ भेंट है। क्या आप यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि 56 पकवान ही श्री कृष्णा को क्यों अर्पण किये है?

किंवदंती के अनुसार श्री कृष्ण ने अपने गांव और ग्रामीणों को भगवान इंद्र, के वर्षा के प्रकोप से बचाने के लिए गोवर्धन पर्वत को उठा लिया था। श्री मदन मोहन ने विशाल गोवर्धन पर्वत को उठाकर अपनी छोटी उंगली की नोक पर रखा, जिसके नीचे सभी लोगों ने शरण ली। वह लगातार सात दिनों तक उसी स्थिति में खड़ा रहा जब तक कि इंद्र देवता को अपनी गलती का एहसास नहीं हुआ। आमतौर पर भगवान श्री मदन मोहन प्रतिदिन 8 पकवान का सेवन करते हैं लेकिन सात दिनों तक उन्होंने कुछ नहीं खाया था। इसलिए सातवें दिन के अंत में सभी भक्तो ने प्रसन्नता और कृतज्ञता में लीन होकर श्री कृष्ण को कुल 56 व्यंजन (प्रत्येक दिन 8 व्यंजन × 7 दिन) के भोग लगाए। ५६ भोग में आम तौर पर श्री राधा कृष्णा की पसंदीदा चीजें होती है जैसे की अनाज, फल, सूखे मेवे, मिठाई, पेय, नमकीन और अचार इत्यादि।

Panch Meva is a combination of five dry fruits. Panch Meva is related to 5 elements in the universe, namely Water, Fire, Earth, Sky and Wind. Panch Meva Prasad mainly includes almond, raisins, dry coconut, makhana and dry dates. In addition to spiritual benefits, the Prasad has health benefits for the devotees.

If you choose to add Prasad in one of the packages, Prasad will be delivered via courier to your home address that you will submit after the payment process. It will be delivered after the Puja will be conducted by chanting your Name, Gotra, City of Residence in ISKCON on September 14, 2021.

पंच मेवा प्रसाद पाँच सूखे मेवों के मिश्रण से बना है। पंच मेवा प्रसाद, ब्रह्मांड के 5 तत्वों का प्रतिनिधित्व करता है, जल, अग्नि, पृथ्वी, आकाश और पवन। पंच मेवा प्रसाद में मुख्य रूप से बादाम, किशमिश, सूखा नारियल, मखाना और सूखी खजूर शामिल होती हैं। आध्यात्मिक लाभ के साथ, प्रसाद भक्तों के स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होता हैं।

यदि आप किसी पैकेज में प्रसाद का चयन करते हैं, तो प्रसाद को आपके घर के पते पर संदेशवाहक(कूरियर) के माध्यम से भेजा जाएगा। 14 सितंबर, 2021 को इस्कॉन में आपके नाम, गोत्र और निवास स्थल का उच्चारण करके, पूजा के पश्चात् प्रसाद आपके घर भेजा जायेगा।

In case, you don't know your Gotra, add your caste during the registration process for Puja. In case you don’t know that, add your full name during the registration process. These details would be chanted by Pandit ji during Radha Krishna Abhisek and Radha Ashtami Aarti at ISKCON. Feel free to contact us at+919015367944

यदि आपको अपना गोत्र पता नहीं है, पूजा के लिए पंजीकरण प्रक्रिया के दौरान अपनी जाति लिखे। यदि ,आप यह भी नहीं जानते तो, पंजीकरण प्रक्रिया के दौरान अपना पूरा नाम लिखे। इन विवरणों का पंडित जी द्वारा पूजा के दौरान जाप किया जाएगा। आप हमसे यहाँ पर समपर्क +919015367944 कर सकते है।

DevDarshan has family packages available for Puja. Please contact us at +919015367944 via a call or WhatsApp for the family package.

देवदर्शन में पूजा के लिए पारिवारिक पैकेज उपलब्ध हैं। परिवार पैकेज के लिए कॉल या व्हाट्सएप के माध्यम से +919015367944 संपर्क कर सकते है।

bookendL

bookend
WhatsappImage
WhatsappImage